भारतारि रावजों गियान लानाय

भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

< previous123456789515516Next >

देवनागरी वर्णमाला का प्रथम व्‍यंजन। कंठ्य और स्‍पर्श वर्ण।

कं

पुं.

जल।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. कम्]

कं

पुं.

अस्तक।
Discription with Examples: सिंभु भव के पत्र वन दो बजे चक्र अनूप। देव कं को छत्र छावत सकल सोभा रूप।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. कम्]

कं

पुं.

अग्नि।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. कम्]

कं

पुं.

कम।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. कम्]

कं

पुं.

सोना।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. कम्]

कं

पुं.

सुख।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. कम्]

कँउधा

स्त्री.

बिजली की चमक।
Category: संज्ञा
Etamology: [हिं. कौंधना]

कंक

पुं.

सफेद चील।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

कंक

पुं.

बगुला।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

कंक

पुं.

यम।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

कंक

पुं.

युधिष्ठिर का कल्पित नाम जो उन्होंने राजा विराट के यहाँ रखा था।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

कंक

पुं.

कंस का एक भाई।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

कंकड़

पुं.

छोटा टुकड़ा, पत्थर का टुकड़ा, रोड़ा।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. कर्कर, प्रा. कक्कर]

कँकड़ीला

जिसमें कंकड़ अधिक हों।
Category: वि.
Etamology: [हिं, कंकड़]

कंकण

पुं.

कड़ा या चूड़ा नामक आभूषण जो कलाई में पहना जाता है।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

कंकण

पुं.

एक धागा जिसमें सरसों की पुटली, लोहे का छल्‍ला आदि बाँधकर दुलहिन और दूल्हे के हाथ में पहनाते हैं। विवाह के पश्चात दूल्‍हा दुलहिन का और दुलहिन दूल्हे का कंकण खोलती है।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

कंकण

पुं.

ताल का एक भेद।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं.]

कंकन

पुं.

कलाई में पहनने का एक आभूषण, कंगन, चूड़ा।
Discription with Examples: तेरो भलो मनैहौं झगरिनि, तू मत मनहिं डरै। दीन्हौं हार गर, कर कंकन, मोतिनि थार मरे – १०-१७।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. कंकण]

कंकन

पुं.

एक धागा जिसमें सरसों की पुटली, लोहे का छल्ला आदि बाँधकर दुलहिल और दूल्हे के हाथ में बाँधते हैं। विवाह के पश्चात दूल्हा दुल्हिन का कंकन खोलता है और दुलहिन दूल्हे का खोलती है।
Discription with Examples: कर कंपै, कंकन नहिं छूटै। राम-सिया-कर परस मगन भए, कौतुक निरखि सखी सुख लूटैं-६-२५।
Category: संज्ञा
Etamology: [सं. कंकण]
< previous123456789515516Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  भारतभाणी एपखौ डाउनलड खालाम
  Bharatavani Windows App